पंचांग व कंप्यूटर के बिना 2 मिनट में लग्न बताना

पंचांग व कंप्यूटर के बिना 2 मिनट में लग्न बताना

ज्योतिष में किसी कुंडली का सबसे अहम् स्थान है तो वह है लग्न l लग्न के जानने मात्र से हम उस व्यक्ति के बारें में कई बातें जान लेते है l वैसे तो लग्न की ज्योतिषीय परिभाषा है की किसी दिनांक विशेष, समय विशेष और स्थान विशेष पर पूर्वी क्षितिज पर में उदित राशी को लग्न कहते है l लग्न निर्धारण के लिए पञ्चांग या table of accendent की आवश्यकता होती है l परन्तु आजकल मोबाइल और कंप्यूटर सॉफ्टवेर से लोग आसानी से लग्न निकाल लेते है l वैसे तो लग्न निकालने की कई विधियाँ है परन्तु न तो किसी किताब में ऐसी विधियाँ छपती है न ही आजकल के ज्योतिषियों को इसका ज्ञान है l

प्रस्तुत विधि संपातिक काल से रहित है अतः कभी किसी लग्न को जानने मे 01 से 02 मिनिट का अन्तर आ भी सकता हैं ये अन्तर मात्र कुछ दिनो मे ही आयेगा, सभी दिनो मे लग्न की गणना 100 प्रतिशत सही रहेगी |




जैसा की हम सब जानते है की जन्मकुंडली निर्माण में जन्म की तारीख और जन्म के समय की आवश्यकता होती है बिलकुल इस विधि में भी जातक के अंग्रेजी जन्म तारीख और समय की आवश्यकता पड़ेगी l

लग्न निकालने की विधि

  1. जन्म की तारीख अंक का 4 गुना + माह का अंक (table 1 से) + जन्म के स्टैंडर्ड टाइम के कुल मिनिट = कुल योग
  2. ऊपर प्राप्त योग मे 1440 का भाग देना होगा |
  3. भाग देने पर जो भी लब्धि आये उसे छोड़ना है ओर जो शेष बचे उन अंकों को यहाँ प्राप्त अंक कहा जायेगा |
  4. प्राप्त अंक को हमारी लग्न वाली Table 2 मे देखकर आप आसानी से लग्न निकाल सकते हैंl

Table 1

महिना अंक
जनवरी 726
फरवरी 850
मार्च 960
अप्रैल 1086
मई 1208
जून 1327
जुलाई 6
अगस्त 126
सितम्बर 250
अक्टूबर 366
नवेम्बर 491
दिसम्बर 604

 TABLE 02

प्राप्त अंक लग्न
70 से 181 मेष
182 से 302 वृषभ
303 से 434  मिथुन
435 से 556 कर्क
557 से 691 सिंह
692 से 818 कन्या
819 से 949 तुला
950 से 1083 वृश्चिक
1084 से 1208 धनु
1209 से 1319 मकर
1320 से 1419 कुम्भ
1420 से 1440 मीन




उदाहरण (1) –

जन्म तारीख : 16-06-1954

जन्म समय : 04.16 AM

जन्मांक : 16

  1. चार का गुणा : 16×4 = 64
  2. माह का अंक table 1 से जून का अंक जोड़ा जायेगा : 1328
  3. जन्म समय को मिनट में बदलाव : रात्रि 12 बजे से (04.16 AM ) मिनट बने 240+16 = 256
  4. प्राप्त योग : 1+2+3 = 64 + 1328 + 256 = 1648
  5. प्राप्त योग को 1440 से भाग देंगें तो प्राप्त अंक होगा 208
  6. प्राप्त अंक 208 को Table 2 की सहायता से लग्न ज्ञात करेंगें जो की यहाँ पर वृषभ है l

उदाहरण (2) –

जन्म तारीख : 25-07-1960

जन्म समय : 20.14 PM

जन्मांक : 25




  1. चार का गुणा : 25×4 = 100
  2. माह का अंक table 1 से जुलाई का अंक जोड़ा जायेगा : 6
  3. जन्म समय को मिनट में बदलाव : रात्रि 12 बजे से (20.14 AM ) मिनट बने 1200 +14  = 1214
  4. प्राप्त योग : 1+2+3 = 100 + 5 + 1214 = 1320
  5. प्राप्त अंक 1320 को Table 2 की सहायता से लग्न ज्ञात करेंगें जो की यहाँ पर कुम्भ है l




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *