Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
December 27, 2018

Ramal Astrology is Not of Arabic Origin, It is Indian!

Jyotish or Astrology means the Vision of the Divine. Jyotish is among the six scriptures that elucidate Vedas. There are three branches of astrology. (1) Falit […]
October 27, 2018

ज्योतिष शिक्षण माला भाग – 005

मुहूर्त के मूल पांच अंग “पंचांग” व “कैलेंडर” ज्योतिष के किसी भी विषय को समझने के लिए जरुरी है कि सबसे पहले पंचांग को समझा जाये। […]
October 7, 2017

ज्योतिष शिक्षण माला भाग – 004

नक्षत्र विवेचन भारतीय पंचांग तथा ज्योतिष में नक्षत्रों (अंग्रेजी में Constellations) को अत्यधिक महत्व दिया गया है। परंपरानुसार ‘न क्षरतीति नक्षत्राणि’ अर्थात् जिनका क्षरण नहीं होता, […]
September 13, 2017

Debts of previous birth as per Lal Kitab

Debts of previous birth as per Lal Kitab -Acharya Anupam Jolly Because of the inflicted planets present in the Horoscope, the native has various kinds of […]
August 31, 2017

ज्योतिष शिक्षण माला भाग 003

ज्योतिष शिक्षण माला भाग 3 भारतीय ज्योतिष के अनुसार राशियों के गुण धर्म   मेष राशि भौतिक लक्षण : मध्यम कद, पतला मांसल शरीर, लंबा चेरा […]
August 24, 2017

ज्योतिष शिक्षण माला भाग – 002

फलित ज्योतिष शिक्षा की शुरूआत के मूलभूत सिद्धांत हमारे सौरमंडल में नौ ग्रह हैं : सूर्य, चंद्र, मंगल, बंध, बृहस्पति, शुक्र, शनि, राहु तथा केतु। इनमें […]
August 16, 2017

ज्योतिष सीरीज -003

जन्मपत्रिका में विभिन्न राजयोग विचार राजयोग किसी भी कुंडली में लगन से केन्द्र विभाव ष्णु स्थान कहलाते है एवं लग्र से त्रिकोण स्थान लक्ष्मी स्थान कहलाते […]
August 11, 2017
मुहूर्त के सामान्य प्रचलित नियम

ज्योतिष सीरीज -002

मुहूर्त के सामान्य प्रचलित नियम                                                                        आचार्य अनुपम जौली वैदिक ज्योतिष में वार तथा तिथि के संयोग से बनने वाले मुहूर्तों को रोजमर्रा के काम-काज करने […]
css.php