August 16, 2017

ज्योतिष सीरीज -003

जन्मपत्रिका में विभिन्न राजयोग विचार राजयोग किसी भी कुंडली में लगन से केन्द्र विभाव ष्णु स्थान कहलाते है एवं लग्र से त्रिकोण स्थान लक्ष्मी स्थान कहलाते […]
August 11, 2017
मुहूर्त के सामान्य प्रचलित नियम

ज्योतिष सीरीज -002

मुहूर्त के सामान्य प्रचलित नियम                                                                        आचार्य अनुपम जौली वैदिक ज्योतिष में वार तथा तिथि के संयोग से बनने वाले मुहूर्तों को रोजमर्रा के काम-काज करने […]
August 9, 2017
ज्योतिष में मुहूर्त

ज्योतिष सीरीज -001

वेदांग ज्योतिष में मुहूर्त                                                –   आचार्य अनुपम जौली गणेशम् एकदन्तं च हेरम्बं विध्ननायकम्, लम्बोदर्ं शूर्पकर्णम् गजवक्त्रम् गुहाग्रजम्। नामाष्टार्थ च पुत्रस्य श्रृणु मातर्हरप्रिये, स्रोत्राणां सारभूतं च […]
July 18, 2017

SRF Views on Astrology

Astrology is a true science, though only an intuitive and spiritually developed person can rightly interpret a horoscope. Self-Realization Fellowship teaches that all things in the […]
July 6, 2017
mantra for success

स्वर साधिए, सफलता पाईए

July 3, 2017
Vastu purush

Vaastu Purush Mandal

Magical Grid System in ancient Indian architecture VAASTU-PURUSHA : MYTHOLOGICAL ORIGIN There is a very interesting myth associated with the origin of VAASTU-Purusha, from which we […]
April 25, 2017

रमल के द्वारा जातक के मन में चल रही चिन्ता का अनुमान

रमल के द्वारा जातक के मन में चल रही चिन्ता का अनुमान – आचार्य अनुपम जौली भविष्य को जानने की अनेक पद्धतियों का चलन विश्वभर में […]
April 20, 2017

ग्रहों का वास्तु सम्बन्ध

आधुनिक परिपेक्ष में वास्तु का विकृत रूप, कुछ वास्तुशास्त्रीयों के द्वारा परोसा जा रहा है। फेंगशुई और वास्तु को सम्मलित कर गलत शलत ज्ञान बहुत ही […]
February 17, 2017

जीव उत्पत्ति में ग्रहों की भूमिका

ग्रहस्तु व्यापितं सर्व जगदेत्चराचरम।। यह चराचर जगत् ग्रहों से ही व्याप्त है। ग्रहों का असर मानव शरीर की उत्पत्ति में किस प्रकार कार्य करता है आईये […]
February 15, 2017
bhagvad gita and astrology

भगवत गीता और ज्योतिष

(ज्ञानी काटे ज्ञान से, मुर्ख काटे रोये, कर्म गति टारे नहीं टरे) भारतीय संस्कृति में मै गीता को सर्वोच्च ग्रन्थ (पुस्तक) मानता हूँ। क्रिया योग के […]
February 14, 2017
ramal astrologer

रमल द्वारा जातक के मन में छिपे प्रश्न का संज्ञान

रमल एक प्राचीन भारतीय शास्त्र है, जिसके द्वारा प्रश्नों के उत्तर व उसके समाधान प्राप्त किये जा सकते है। साथ ही इस चमत्कारिक शास्त्र से मूक […]
January 30, 2017
aayam and aayadi sutra in vastu

वास्तु में आयाम व आयादि सूत्र

भूमि की लंबाई को भवन के गर्भगृह के केन्द्रीय हिस्से के चौड़ाई से गुणा करने पर आयाम प्राप्त होता है। आयाम ही किसी भी भवन में […]
January 7, 2017

रमल प्रश्नावली

रमल प्रश्नावली इस प्रश्नावली का तरीका है कि चंदन की लकड़ी का चौकोर पासा बनाकर उस पर १, २, ३, ४ खुदवा लें। फिर अपने कार्य […]
December 30, 2016

नए साल में अपनी राशि अनुसार करें ये उपाय।

नए साल में अपनी राशि अनुसार करें ये उपाय। घर आएगी सुख , शांति और समृद्धि। वर्ष 2017 इस बार कई कारणों से बहुत खास बन […]
December 27, 2016

यन्त्र शास्त्र

तन्त्रशास्त्र कोई जादू का खेल नहीं है। वह हमें उस वैज्ञानिक पद्धति की शिक्षा देता है, जिसके द्वारा मनुष्य दैवी शक्ति का अर्जन कर सकता है। […]
December 24, 2016

पूर्वजन्म, पुनर्जन्म – ज्योतिषीय विश्लेषण

पुनर्जन्म का अर्थ है- एक शरीर का त्याग करके दुबारा जन्म लेना। इसके अनेक कारण होने पर भी, प्रधानत: अपने शुभाशुभ कर्मों की वासना ही मुख्य […]